ऑनलाइन पोर्टल से यूपी में राशन कार्ड प्राप्त करना हुआ आसान

पहले के समय में राशन कार्ड पाने के लिए कार्यालयों की लम्बी कतारों में रहना पड़ता था। पर अब बदलते समय के साथ इस प्रक्रिया में काफी सुधार लाया गया हैं। यूपी सरकार ने अपने लोगो के सुविधा के लिए इस प्रक्रिया  को ऑनलाइन लाने का फैसला किया। राशन कार्ड एक ऐसा दस्तावेज हैं जो …

Read moreऑनलाइन पोर्टल से यूपी में राशन कार्ड प्राप्त करना हुआ आसान

Best Sanskrit Quotes

इस पोस्ट में आपको Best Sanskrit Quotes मिलेंगे। यहाँ पर आप संस्कृत सुविचार को हिंदी अनुवाद के साथ पढ़ सकते हैं। Best Sanskrit Quotes दानं भोगो नाशस्तिस्रो, गतयो भवन्ति वित्तस्य।यो न ददाति न भुङ्क्ते, तस्य तृतीयागतिर्भवति॥ -: हिंदी भावार्थ :- दान, भोग और नाश धन की यह तीन गतियाँ ही होती हैं।जो न दान देता …

Read moreBest Sanskrit Quotes

Sanskrit Quotes with Hindi Meaning

इस पोस्ट में आपको संस्कृत भाषा में सुविचार हिंदी अर्थ (Sanskrit Quotes with Hindi Meaning) के साथ पढ़ने को मिलेंगे। Sanskrit Quotes with Hindi Meaning नाभिषेको न संस्कारः सिंहस्य क्रियते वने।विक्रमार्जितसत्वस्य स्वयमेव मृगेन्द्रता॥ -: हिंदी भावार्थ :- कोई और सिंह का वन के राजा जैसे अभिषेक या संस्कार नहीं करता है, अपने पराक्रम के बल …

Read moreSanskrit Quotes with Hindi Meaning

पासपोर्ट के लिए आवेदन कैसे करें?

पासपोर्ट के लिए आवेदन कैसे करें? विदेश मंत्रालय, भारत सरकार के 37 पासपोर्ट कार्यालयों की एक विस्तृत श्रृंखला, देश भर में स्थापित 180 भारतीय दूतावासों और वाणिज्य दूतावासों के साथ-साथ भारतीय पासपोर्ट जारी करने और वितरण का काम संभालती है। यह दस्तावेज एक आवश्यकता है क्योंकि यह व्यक्तियों के लिए पहचान पत्र के रूप में …

Read moreपासपोर्ट के लिए आवेदन कैसे करें?

Difference Between SQL and T-SQL in Hindi

इस पोस्ट में आप SQL और T-SQL के बीच अंतर को हिंदी में (Difference Between SQL and T-SQL in Hindi) पढ़ सकते हैं। SQL और T-SQL दोनों ही डाटाबेस में डेटा को एक्सेस करने में प्रयोग की जाने वाली भाषा हैं। Difference Between SQL and T-SQL in Hindi SQL और T-SQL डेटाबेस में बदलाव करने …

Read moreDifference Between SQL and T-SQL in Hindi

गीता अठारहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 18 with Hindi and English Translation

मोक्षसंन्यासयोगः (मोक्षसंन्यासयोग) गीता अठारहवाँ अध्याय श्लोक – अर्जुन उवाचसंन्यासस्य महाबाहो तत्त्वमिच्छामि वेदितुम् ।त्यागस्य च हृषीकेश पृथक्केशिनिषूदन ॥१८-१॥ -: हिंदी भावार्थ :- अर्जुन कहते हैं – हे महाबाहो! हे अन्तर्यामिन्‌! हे वासुदेव! मैं संन्यास और त्याग के तत्त्व को अलग-अलग जानना चाहता हूँ॥1॥ -: English Meaning :- Arjun says – ‘Of Samnyasa’ O Mighty-armed, I desire …

Read moreगीता अठारहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 18 with Hindi and English Translation

गीता सत्रहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 17 with Hindi and English Translation

श्रद्धात्रयविभागयोगः (श्रद्धात्रयविभागयोग) गीता सत्रहवाँ अध्याय श्लोक – गीता(मूल संस्कृत) -: हिंदी भावार्थ :- गीता (हिंदी भावानुवाद) -: English Meaning :- Gita (English) गीता सत्रहवाँ अध्याय श्लोक – अर्जुन उवाचये शास्त्रविधिमुत्सृज्य यजन्ते श्रद्धयान्विताः ।तेषां निष्ठा तु का कृष्ण सत्त्वमाहो रजस्तमः ॥१७-१॥ -: हिंदी भावार्थ :- अर्जुन बोले- हे कृष्ण! जो मनुष्य शास्त्र विधि को त्यागकर श्रद्धा …

Read moreगीता सत्रहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 17 with Hindi and English Translation

गीता सोलहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 16 with Hindi and English Translation

दैवासुर सम्पद्विभागयोगः (दैवासुर-सम्पद्विभागयोग) गीता सोलहवाँ अध्याय श्लोक – श्रीभगवानुवाच अभयं सत्त्वसंशुद्धि र्ज्ञानयोगव्यवस्थितिः ।दानं दमश्च यज्ञश्च स्वाध्यायस्तप आर्जवम् ॥१६-१॥ -: हिंदी भावार्थ :- श्री भगवान बोले- भय का सर्वथा अभाव, अन्तःकरण की पूर्ण निर्मलता, तत्त्वज्ञान के लिए ध्यान योग में निरन्तर दृढ़ स्थिति और सात्त्विक दान, इन्द्रियों का दमन, भगवान, देवता और गुरुजनों की पूजा तथा …

Read moreगीता सोलहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 16 with Hindi and English Translation

गीता पंद्रहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 15 with Hindi and English Translation

पुरुषोत्तमयोगः (पुरुषोत्तमयोग) गीता पंद्रहवाँ अध्याय श्लोक – श्रीभगवानुवाच ऊर्ध्वमूलमधःशाखम श्वत्थं प्राहुरव्ययम् ।छन्दांसि यस्य पर्णानि यस्तं वेद स वेदवित् ॥१५-१॥ -: हिंदी भावार्थ :- श्री भगवान बोले- आदिपुरुष परमेश्वर रूप मूल वाले (आदिपुरुष नारायण वासुदेव भगवान ही नित्य और अनन्त तथा सबके आधार होने के कारण और सबसे ऊपर नित्यधाम में सगुणरूप से वास करने के …

Read moreगीता पंद्रहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 15 with Hindi and English Translation

गीता चौदहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 14 with Hindi and English Translation

गुणत्रयविभागयोगः (गुणत्रयविभागयोग) गीता चौदहवाँ अध्याय श्लोक – श्रीभगवानुवाच परं भूयः प्रवक्ष्यामि ज्ञानानां ज्ञानमुत्तमम् ।यज्ज्ञात्वा मुनयः सर्वे परां सिद्धिमितो गताः ॥१४-१॥ -: हिंदी भावार्थ :- श्री भगवान बोले- ज्ञानों में भी अतिउत्तम उस परम ज्ञान को मैं फिर कहूँगा, जिसको जानकर सब मुनिजन इस संसार से मुक्त होकर परम सिद्धि को प्राप्त हो गए हैं॥1॥ -: …

Read moreगीता चौदहवाँ अध्याय अर्थ सहित Bhagavad Gita Chapter – 14 with Hindi and English Translation